श्रीनगर के हब्बा कादल में 31 साल बाद शीतल नाथ मंदिर बसंतपंचमी को खुला

Estimated read time 1 min read

कश्मीर घाटी में हुकुमत के बदलने के साथ हालात भी बदले हैं, कश्मीर में नया सवेरा हो रहा है-

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर लंबे समय से आतंकवाद से पीड़ित हैं। 90 के दशक में कश्मीर घाटीमें आतंक की शुरुआत के बाद बड़े पैमानों पर घाटी से हिंदुओं का पलायन हुआ। इस वजह से अब तक कश्मीर घाटी में हिंदुओं के कई मंदिर बंद पड़े हैं लेकिन अब समय और हुकुमत के बदलने के साथ हालात भी बदले हैं, कश्मीर में नया सवेरा हो रहा है।

मंगलवार को बसंत पंचमी के मौके पर श्रीनगर के हब्बा कादल में 31 साल बाद शीतल नाथ मंदिर खोला गया।

एक श्रद्धालु ने न्यूज एजेंसी ANI से बातचीत में बताया कि ये मंदिर कश्मीर में आतंकवाद पनपने और इसकी वजह से हुए हिंदुओं के पलायन के बाद से बंद हो गया था। आज हमने यहां पूजा करने का फैसला किया।

ALSO READ -  CBI ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के वकील आनंद डागा को किया गिरफ्तार-

You May Also Like