अलपन बंदोपाध्याय पर केंद्र सरकार सख्त, कारण बताओ नोटिस हुआ जारी 

Estimated read time 1 min read

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को केंद्र ने अब कारण बताओ नोटिस जारी किया है। जिसपर अब केंद्र सरकार की सख्ती नज़र आई है जिसके चलते केंद्र सरकार ने तीन दिनों में अपना जवाब दाखिल करने को कहा है।  इसके अलावा अलपन के खिलाफ आपदा प्रबंधन एक्ट की धारा 51(b) भी लगाई है। आपको बतादें कि प्रधानमंत्री मोदी की बैठक में देरी से पहुंचने पर बंदोपाध्याय को कारण बताओ का नोटिस जारी किया गया है। केंद्र ने एक चिट्ठी में लिखा कि पीएम मोदी चक्रवात यास से प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा करने कलाईकुंडा एयरफोर्स स्टेशन पहुंचे थे। इसके बाद यहां पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और मुख्य सचिव की बैठक होनी थी। इसके बाद पीएम मोदी को मीटिंग रूम में अधिकारियों के आने का 15 मिनट बैठकर इंतज़ार करना पड़ा था। 

 मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री को फोन लगाया गया तो तब, मुख्य सचिव और मुख्यमंत्री बैठक में पहुंचे और वहां से तुरंत निकल भी गए। जिसके बाद इसे बैठक में अनुपस्थित होना ही कहा गया। प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रीय आपदा प्रबंध प्राधिकरण के चेयरमैन भी हैं और अलपन बंदोपाध्याय की ये हरकत कानूनी तौर पर दिए गए दिशा निर्देशों के खिलाफ थी। इसलिए अलपन बंदोपाध्याय पर आपदा प्रबंधन एक्ट की धारा 51(b) भी लगा। 

ALSO READ -  झारखंड विधानसभा में नमाज अदा करने के लिए अलग से कमरा संख्या TW-348 अलॉट, लोकतंत्र की हत्या-

You May Also Like