एयर मार्शल एचएस अरोड़ा ने एएफएस सूर्यलंका में एयर गाइडेड वेपन्‍स फायरिंग देखी-

एयर मार्शल एचएस अरोड़ा पीवीएसएम एवीएसएम एडीसी, वायु सेना के उपाध्यक्ष (वीसीएएस) ने 01 दिसंबर, 2020 को एयरफोर्स स्टेशन सूर्यलंका में कंबाइंड गाइडेड वेपन्‍स  फायरिंग 2020 के एक हिस्‍से के तहत एयर गाइर्ड वेपनस फायरिंग को जमीन से देखा।

यह अभ्यास 23 नवंबर से 02 दिसंबर, 2020 तक किया गया। रूसी लघु रेंज की इगला मिसाइलों के साथ स्वदेशी आकाश मिसाइल प्रणाली को फायर किया गया और युद्धक दल को वास्‍तविक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए मैन्‍योवेरेबल एक्सपेंडेबल एरियल टारगेट (एमईएटी) निर्धारित कर दिया था।

जहां देश को कोविड-19 वैश्विक महामारी की अभूतपूर्व चुनौती का सामना करना पड़ रहा है, वहीं भारतीय वायु सेना मौजूदा सुरक्षा स्थिति पर नजर रखने के साथ-साथ अपनी परिचालन क्षमताओं को लगातार बेहतर करना चाहती है। वायु योद्धाओं को संबोधित करते हुए वीसीएएस ने पेशेवर तरीके से इसमें भाग लेने वाले लड़ाकू स्क्वाड्रन की प्रशंसा की और कोविड संबंधी सभी आवश्‍यक सावधानी बरतते हुए इस अभ्‍यास के आयोजन के लिए स्टेशन द्वारा किए गए प्रयासों की भी सराहना की। उन्होंने सभी वायु योद्धाओं से कहा कि वे सीजीडब्ल्यूएफ 2020 में सीखे गए सभी पाठों को ऑपरेशन संबंधी किसी भी उभरते परिदृश्य पर आजमाने के लिए तैयार रहें।

ALSO READ -  इजरायल में राजनीतिक संकट के बीच घरेलू हिंसा की आशंका, चेतावनी जारी-

You May Also Like