#emergency राहुल गांधी ने माना, आपातकाल एक भूल थी-

राहुल गांधी ने कहा उन्हें चुनाव हारने का डर था, इस संबंध में पूछे गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि आपातकाल में जो भी हुआ वह “गलत” था-

कांग्रेस ने कहीं न कहीं अपनी गलती को स्वीकारा है, दिल्ली के दंगे पर मांगी माफी-

ND : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा लगाया गया आपातकाल एक “गलती” थी. उन्होंने कहा कि उस दौरान जो भी हुआ वह “गलत”था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी अमेरिका के कॉर्नेल विश्वविद्यालय में प्रोफेसर और भारत के पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बसु के साथ हुई बातचीत में यह स्वीकार किया है.

‘मेरी दादी ने भी ऐसा कहा था’-राहुल गांधी
बातचीत में राहुल गांधी ने कहा कि वह कांग्रेस में आंतरिक लोकतंत्र के पक्षधर हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भारत की स्वतंत्रता के लिए लड़ाई लड़ी, देश को उसका संविधान दिया और समानता के लिए खड़ी हुई. आपातकाल पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह एक गलती थी. बिलकुल, वह एक गलती थी. और मेरी दादी (इंदिरा गांधी) ने भी ऐसा कहा था.”

हार के डर से आपातकाल की घोषणाराहुल गांधी
इमर्जेन्सी आपातकाल पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि वह एक गलती थी. बिलकुल, वह एक गलती थी. और मेरी दादी (इंदिरा गांधी) ने भी ऐसा कहा था.”आपातकाल के अंत में इंदिरा गांधी ने चुनाव की घोषणा की थी.

ALSO READ -  योगी जी ने #covid की तैयारी के लिए लखनऊ में किया निरीक्षण-

इस बारे में प्रणब मुखर्जी ने बसु से कहा था कि उन्होंने ऐसा इसलिए किया क्योंकि उन्हें हारने का डर था. इस संबंध में पूछे गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि आपातकाल में जो भी हुआ वह “गलत” था और उसमें तथा आज की परिस्थिति में मूलभूत अंतर है.

वहीं गौर करने वाली बात ये है कि जब इंदिरा गाँधी ने इमर्जेन्सी लगाई तब राहुल गाँधी कि उम्र लगभग 5 – 7 वर्ष कि रही होगी.

You May Also Like