कानपुर से खुर्जा के बीच 353 किलोमीटर के खंड में मालगाड़ियों का परिचालन परीक्षण शुरू

ND: भारतीय रेलवे के पूर्वी समर्पित मालवहन गलियारे (डीएफसी) में उत्तर प्रदेश के कानपुर से खुर्जा के बीच 353 किलोमीटर के खंड में गुरुवार से मालगाड़ियों का परिचालन परीक्षण शुरू हो गया। भारतीय डीएफसी निगम लिमिटेड के सूत्रों ने यहां बताया कि पंजाब के संगरूर के निकट नाभा तापीय विद्युत परियोजना के लिए कोयले से लदी एक मालगाड़ी कानपुर में भाऊपुर स्टेशन पर भारतीय रेलवे की लाइन से डीएफसी की लाइन पर सुबह नाै बजकर 10 मिनट पर आयी और ये गाड़ी खुर्जा पर वापस भारतीय रेलवे की लाइन पर आ जाएगी।


सूत्रों के अनुसार यह पूर्वी डीएफसी के भाऊपुर-खुर्जा खंड पर पहली मालगाड़ी परीक्षण परिचालन के लिए आयी है। जल्द ही इस लाइन काे मालपरिवहन के लिए खोला जाएगा। लुधियाना से सोननगर तक निर्माणाधीन डीएफसी के पूरा होने पर कोयले से लदी मालगाड़ियां नाभा तक सीधे डीएफसी से ही पहुंचेंगी। इस समय सोननगर से नाभा तक मालगाड़ियों को पहुंचने में 22 से 26 घंटे लगते हैं लेकिन डीएफसी के बनने के बाद यह समय 10 से 12 घंटे ही रह जाएगा। डीएफसी पर मालगाड़ी 100 किलोमीटर प्रतिघंटा तक की गति से दौड़ेगी। पूर्वी डीएफसी (सोननगर-दानकुनी पीपीपी सेक्‍शन को छोड़कर) एवं पश्चिमी डीएफसी का 2800 रूट किलोमीटर का कार्य जून 2022 तक पूर्ण हो जाएगा।

ALSO READ -  18 फरवरी को पूरे देश में किसान संगठनों का 'रेल रोको आंदोलन'

You May Also Like