कासगंज सिपाही मर्डर केस: 3 साल की बेटी पूछ रही- पापा कब आएंगें, सीएम योगी के आदेश के बाद एक आरोपी का एनकाउंटर 

Estimated read time 1 min read

यूपी जैसे आपराधिक घटनाओं का गण सा बनता जा रहा है अभी बिकरू काण्ड का मामला चल ही रहा है कि वहीँ आज यूपी के कासगंज जिले में कल  शराब माफिया के हमले में मारे गए सिपाही देवेंद्र सिंह का मामला सामनें आया है। सिपाही देवेंद्र सिंह आगरा के गांव नगला बिंदू के रहने वाले थे। उनकी मृत्यु से गाँव में मातम सा छाया है।  शहीद के पिता व परिवार के अन्य लोग रात को ही कासगंज रवाना हो गए है। परिवार में देवेंद्र की पत्नी, मां-बहन का रो-रोकर बुरा हाल है। सिपाही देवेंद्र की दो बेटियां हैं। इनमें बड़ी बेटी की उम्र तीन साल, जबकि छोटी तीन महीने की है। मां और बुआ को रोता देखकर बड़ी बेटी बस यही पूछ रही है कि पापा कब आएंगे।  

क्या है मामला ?

कासगंज के थाना सिढ़पुरा क्षेत्र के गांव नगला धीमर और नगला भिकारी में अवैध शराब की खबर मिली जिसके बाद दरोगा अशोक कुमार सिंह और सिपाही देवेंद्र सिंह दबिश देने पहुचें जहाँ शराब माफिया ने मंगलवार शाम को उनपर हमला कर दिया। सिपाही देवेंद्र की हत्या कर दी गई।  दरोगा अशोक कुमार सिंह गंभीर रूप से घायल हैं। उनका इलाज चल रहा है। सिपाही देवेंद्र जसावत के पिता महावीर सिंह किसान हैं। वह इकलौते बेटे थे। ग्रामीणों ने बताया कि देवेंद्र की शादी 2016 में चंचल से हुई थी। पति की मौत की खबर से पत्नी को गहरा सदमा लगा है। उनका रो-रोकर बुरा हाल है। उनकी दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी वैष्णवी तीन साल की, जबकि छोटी बेटी महज एक महीने की है।

ALSO READ -  सूरजमुखी के बीज औषधीय गुणों का खजाना, नित्य सेवन स्वास्थ्य के लिए होता है लाभकारी-

इस आपराधिक घटना के लिए सीएम योगी ने सख्त रुख अपनाया है जिसके चलते अधिकारियों को सख्त कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं। इसी कड़ी में कासगंज पुलिस ने 12 घंटे के अंदर ही सिपाही की हत्या करने वाले एक आरोपी को मुठभेड़ में मार गिराया है। मृतक आरोपी का नाम ऐलकार है, जबकि दूसरा आरोपी फरार बताया जा रहा है।

You May Also Like