कोंग्रेसी थिंक टैंक अहमद पटेल का 71 साल की उम्र में कोरोना से निधन, PM मोदी ने दुख जताते हुए बेटे फैसल से की बात

Estimated read time 1 min read

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद राजीव गाँधी के समय से कोंग्रेसी थिंक टैंक माने जाने वाले अहमद पटेल का बुधवार को 71 साल की उम्र में निधन हो गया. वो एक महीने पहले कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और उसके बाद से ही उनका इलाज चल रहा था. सुबह करीब 3 बजकर 30 मिनट पर उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली.

अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल ने खुद ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी. अपने ट्वीट में अहमद पटेल ने लिखा कि बहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि मेरे पिता अहमद पटेल का निधन 25 नवंबर को सुबह 3 बजकर 30 मिनट पर हो गया. करीब एक महीने पहले वो कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे और तभी से उनकी हालत बिगड़ती चली गई. बाद में उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना भी बंद कर दिया. मैं सभी शुभचिंतकों से प्रार्थना करता हूं कि वो कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करें, भीड़ ना करें और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखें.

उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी, कांग्रेस समेत कई पार्टियों के नेताओं ने दुख जताया है. प्रधानमंत्री मोदी ने अहमद पटेल के निधन पर दुख जताते हुए उनके बेटे फैसल पटेल से फोन पर बात की. राहुल गांधी ने दुख जताते हुए कहा कि वो पार्टी के एक मजबूत स्तंभ थे. कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और अभिषेक मनु सिंघवी ने भी ट्वीट कर दुख जताया.

गुजरात के भरूच जिले के अंकलेश्वर में पैदा हुए अहमद पटेल कांग्रेस के बड़े नेताओं में से एक थे और वो गांधी परिवार के काफी करीबी थे. वो राजीव गांधी के संसदीय सचिव रहने के साथ ही साल 2001 से सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहाकर भी थे. अभी वो पार्टी के कोषाध्यक्ष पद पर थे.

You May Also Like