“टिकैत” ने अक्टूबर तक टिकने की कही बात, हिंसा में गिरफ्तार लोगों को नहीं मिली राहत

Estimated read time 0 min read

नई दिल्ली: जैसा की हम सभी जानतें है कि पिछले ३ महीनों से कृषि  कानूनों के विरोध में किसानों का आंदोलन ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार अपनी ज़िद्द पर है तो किसान अपनी। अभी ताज़ा ख़बरों पर बात करें आज खबर आई है कि भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि, हमने सरकार को बता दिया कि ये आंदोलन अक्तूबर तक चलेगा। और अक्तूबर के बाद भी इस आंदोलन को आगे बढ़ाया जायेगा।उन्होंने ये भी कहा की  नौजवानों को बहकाया गया, उनको लाल किले पर उपद्रव करने को बोला ताकि पंजाब की कौम बदनाम हो। यह एक साजिश है. 

आपको बतादें कि टिकैत ने सरकार द्वारा बॉर्डर पर लगायी गयीं किलों के पास बैठकर खाना खाया। गाजीपुर बॉर्डर पर कटीले तारों और बैरिकेडिंग से जो घेराबंदी की गई है उसके बाद मंगलवार को राकेश टिकैत ने बैरिकेडिंग के पास ही बैठकर खाना खाया। वह बोले कि हम किसान हैं कोई अपराधी नहीं जो इस तरह की किलेबंदी की गई है। इस दौरान वह भावुक भी हो गए। नवंबर के अंतिम सप्ताह से कृषि कानूनों का दिल्ली की सीमाओं पर विरोध कर रहे किसानों का आंदोलन आज अपने 69वें दिन में प्रवेश कर चुका है।

ALSO READ -  कथित तौर पर फेसबुक कॉल पर निकाह करके महिला को अस्वीकार करने पर भी हाई कोर्ट से मिली अग्रिम जमानत-

You May Also Like