निरंजनी अखाड़े की पहली पेशवाई के साथ हरिद्वार महाकुम्भ 2021 की हुई विधिवत शुरुआत

Estimated read time 1 min read

हरिद्वार: आज 3 मार्च से हरिद्वार कुंभ 2021 की विधिवत शुरुआत हो चुकी है, बुधवार को पंचायती श्री निरंजनी अखाड़े के पेशवाई हरिद्वार में भव्य रूप से निकाली गई. कोरोना के कारण जो कार्यक्रम दिसंबर में होने थे वो कार्यक्रम मार्च में हो रहे हैं. पेशवाई की शुरुआत एसएमजेएन पीजी कॉलेज से हुई, भव्य रूप से बड़ी संख्या में नागा साधु के अगुवाई में पेशवाई की शुरुआत की गई.

पेशवाई पूरे हरिद्वार भ्रमण कर शाम तक अखाड़े में पहुंच गई. कुंभ में पेशवाई बड़ी महत्वपूर्ण शोभायात्रा मानी जाती है। साधु-सन्तों पेशवाई को कुंभ की शुरुआत मानते हैं.जानकारी के अनुसार, पेशवाई एक ऐसी यात्रा है, जिसमें साधु-संत राजाओं की तरह घोड़े हाथी में सवार होकर अखाड़े की ओर प्रस्थान करते हैं और श्रद्धालु साधु-संतों पर फूलों की वर्षा से स्वागत करते हैं.मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी पंचायती श्री निरंजनी अखाड़े के पेशवाई में शामिल हुए। मुख्यमंत्री ने भगवान की पूजा कर साधु-संतों का आशीर्वाद लिया. साथ ही सभी साधु-संतों को भव्य कुंभ के लिए आश्वस्त किया.इस दौरान पंचायती श्री निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरी, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र गिरी, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री हरिगिरि व बड़ी संख्या में साधु-संत मौजूद रहे.

ALSO READ -  उत्तराखंड के नए सीएम तीरथ सिंह रावत,कहा - मैंने कभी नहीं सोचा था की यहाँ तक पहुँचूँगा 

You May Also Like