पीएम मोदी ने किसानों से आंदोलन ख़त्म करने की अपील की, कहा – सिक्खों पर हमे गर्व 

Estimated read time 1 min read

ग़ौरतलब है कि पीएम मोदी अभी राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर राज्यसभा में जवाब देने पहुचें हैं। एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि प्रस्ताव पर चर्चा तीन दिनों में सदन द्वारा किया गया मुख्य कार्य है जिसमें 25 दलों के 50 सदस्यों ने भाग लिया।  बीजेपी अपनी सरकार की मजबूती को दिखातें हुए अपने सदस्यों को तीन लाइन का व्हिप जारी कर कर रही है।  ऊपरी सदन में राष्ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर सदन में 15 घंटे की बहस हुई। संसद के सत्र के दौरान सत्ता और विपक्ष के बीच किसान आंदोलन और कृषि कानूनों को लेकर तीखी बहस देखी गई।

शुक्रवार को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सरकार का पक्ष रखा था।मोदी ने सदन में ये भी कहा की हमारा संपूर्ण देश हर सिख पर गर्व करता है। सिख्खों ने देश के लिए बहुत कुछ किया है। उनका जितना हम आदर करें, वो कम होगा। जो लोग उनको गुमराह करने की कोशिश करते हैं, उनसे मैं कहना चाहूंगा की ऐसे देश कभी तर्रकी नहीं करेगा। 
एलएसी की स्थिति पर भारत का रुख स्पष्ट है और पूरे देश ने इसे देखा है। हमने सीमा सुरक्षा के उच्च मानकों को बनाए रखा है और हम इस मुद्दे पर दृढ़-संकल्प हैं।
कोरोना के कारण आप लोग फंसे रहते होंगे, लेकिन आपने सारा गुस्सा मेरे ऊपर निकाल दिया तो आपका मन भी हल्का हुआ। मोदी ने यह भी कहा कि मैं आपके काम आया, ये मैं अपना सौभाग्य मानूंगा। ये आनंद आप लगातार लेते रहिए और मोदी है तो मौका लीजिए।
हमें एफडीआई के नए संस्करण से भारत को बचाना चाहिए – विदेशी विनाशकारी विचारधारा।जबकि हमें प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का पहला रूप बरकरार रखना चाहिए, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश, हमें एफडीआई के नए संस्करण से अपनी रक्षा करनी चाहिए।भारत के उज्ज्वल भविष्य में ईस्टर्न इंडिया बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को जिस प्रकार देशभर में स्वीकृति मिली है, वह अपने आपमें सराहनीय है।

ALSO READ -  #चिनार कॉर्प्स के कमांडर बने डीपी पांडे : जम्मू-कश्मीर 

You May Also Like