#बच्चा ना करे पढ़ाई तो अपनाएं ये वास्तु टिप्स

Estimated read time 1 min read
यूँ तो हमारे जीवन की कई समस्याएं धर्म और वास्तु से जुडी है लेकिन हमारे बच्चो का भी अगर मन पढाई में न लगे तो ये भी एक बड़ी समस्या बनती जाती है। जो भी बच्चों को पढ़ने के लिए कहता है, तो उन्हें यह बातें अच्छी नहीं लगती हैं। जबकि  बच्चों के लिए नियमित पढ़ाई करना बहुत ही आवश्यक है, क्योंकि बचपन में ही उनके भविष्य की नींव तैयार होती है। शुरुआती समय में बच्चा अपनी पढ़ाई पर ध्यान नहीं देता है, तो यह देखा जाता है कि आगे चल कर भी पढ़ाई को लेकर वह लापरवाही बरतने लगता है। इस बात के कई अन्य कारन हो सकते हैं।  आइये आपको बताते हैं कुछ ज़रूरी तथ्य –

१- सबसे पहले हमें जहां हमारा बच्चा पढता है उसकी दिशा पर ध्यान  देने की ज़रुरत हैं, उसकी दिशा उत्तर या  पूर्व दिशा में होना चाहिए। 

२ -किताबों की अलमारी रखी गई है, तो यह भी ध्यान देने वाली बात है कि कमरे के उत्तर या पूर्व दिशा की दीवार पर ही किताबों की अलमारी लगानी चाहिए। उस वक्त जब बच्चा पढ़ाई कर रहा हो तो उसका मुंह दक्षिण दिशा की तरफ नहीं होना चाहिए।
३- बच्चे के पढ़ाई वाले कमरें में मां सरस्वती की प्रतिमा जरूर होनी चाहिए।  इससे बच्चों को सकारात्मक विचार आते हैं। और मन अधिक शिक्षा की और अग्रसर होता है।

४- आपका बच्चा जिस टेबल या कुर्सी पर पड़ता है उसका आकर चौकोर होना चाहिए।

ALSO READ -  इलाहाबाद उच्च न्यायलय का प्रश्न : क्या एक धर्मनिरपेक्ष राज्य मदरसों को फंड दे सकता है? सरकार 4 हफ्तों में जवाब दे-

You May Also Like