UAE – संयुक्त अरब अमीरात द्वारा पाकिस्तान समेत 13 देशों के पर लगाई पाबंदी-

Estimated read time 1 min read

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) द्वारा पाकिस्तान समेत 13 देशों के कर्मचारियों पर पाबंदी, कोरोना महामारी के कारण नहीं बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा और कानून व्यवस्था को मजबूत करने के लिए लगाई है। 

पाकिस्तान (Pakistan), ईरान, सीरिया और सोमालिया सहित 13 मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों को नए वीजा (New Visas) जारी करना बंद कर दिया है।

संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने 18 नवंबर को एक आदेश पारित किया है, जिसमें 13 देशों के कर्मचारियों पर काम करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है,रिपोर्ट-

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, संयुक्त अरब अमीरात ने अस्थाई तौर पर अफगान, पाकिस्तान और दूसरे देशों के कर्मचारियों के लिए नए वीजा जारी करने पर रोक लगा दी है। प्रतिबंधित देशों की सूची में सीरिया, सोमालिया, इराक, यमन और अफगानिस्तान जैसे युद्ध ग्रस्त देश शामिल हैं। ये तुर्की और पाकिस्तान जैसेे सऊदी विरोधी गुटों के देश हैं। 
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने एक बयान में कहा कि यूएई ने पाकिस्तान और दूसरे देशों के कर्मचारियों के लिए नए वीजा जारी करने पर रोक लगा दी है। पाकिस्तान ने कहा कि वो यूएई से इस फैसले के पीछे कारण पूछ रहा है लेकिन हमने सोचा यह कोरोना वायरस से संबंधित है।

पाकिस्तान ने जताया ऐतराज

पाकिस्तान की मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तानी सरकार को इस फैसले के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी नहीं थी। इसके बाद पाकिस्तान ने यूएई सरकार को घेरना शुरू कर दिया,क्योंकि उसे लगा कि यह फैसला विशेष तौर पर पाकिस्तान को मद्देनजर रखकर लिया गया है और कोरोना वायरस इसका मुख्य कारण नहीं है। 

ALSO READ -  पाक मूल की अमेरिकी नागरिक फरीदा, को पुलिस ने नोएडा से किया गिरफ्तार-

सीनेटर अनवर बेग ने जताई चिंता

सीनेटर अनवर बेग का कहना है कि कोरोना वायरस इस प्रतिबंध के पीछे का कारण है तो भारत को भी इस प्रतिबंधित सूची में होना चाहिए था, क्योंकि यहां दुनिया में सबसे ज्यादा मामले सामने आ रहे हैं। काम और रोजगार के लिए वीजा रोक देना चिंताजनक स्थिति है औऱ उनका मानना है कि यह प्रतिबंध विशेष तौर पर पाकिस्तान के लिए लगा है।

जानकारी हो कि UAE GOVT सरकार द्वारा महामारी की शुरुआत में ही पाकिस्तानी श्रमिकों और कर्मचारियों की छटाई करनी शुरू कर दी थी। पाकिस्तान विदेश कार्यालय के मुताबिक अप्रैल 2020 की शुरुआत में यूएई ने 13,000 से ज्यादा कर्मचारियों को निकाला है। 

You May Also Like