किसान आंदोलन के साथ ही साथ राजनैतिक दलों का भी घमासान भरा प्रदर्शन अरविंद सिंह गोप समेत दर्जनों गिरफ्तार-

Estimated read time 1 min read

सपाइयों का प्रदर्शन, शहर में रोड जाम से कराह उठी जनता, दिन भर अधिकारी रहे हलकान

आशीष कुमार, ब्यूरो चीफ, बाराबंकी

बाराबंकी : किसानों के आन्दोलन को राजनीतिक रूप देने के बाद अब राजनीति गर्मा गई है ब्लाक मुख्यालय से लेकर जनपद तक प्रदर्शन गिरफ्तारी नजर बन्द का दौर चला सपाई दिग्गज समेत भाकियू नेता नजरबंद किये गए तो चप्पे चप्पे पर भारी पुलिस बल तैनात रहा जिलाधिकारी डॉ आदर्श सिंह व पुलिस अधीक्षक डॉ अरविंद चतुर्वेदी हर स्थित का जायजा लेते रहे । केंद्र सरकार के कृषि बिल के खिलाफ पिछले कई दिनों से चली आ रही उठापटक समाप्त होने का नाम नहीं ले रही। सोमवार को समाजवादी पार्टी के नेताओं ने सैकड़ों कार्यकर्ताओं के संग अलग अलग जोरदार प्रदर्शन किया। पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप जहां अपने आवास के पास सड़क पर बैठ गए जिससे रोड जाम रही तो पूर्व मंत्री राकेश वर्मा, एमएलसी राजेश यादव समेत पार्टी के तमाम नेता व पदाधिकारी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए गिरफ्तार किए गए। सुबह से दोपहर बाद तक या यू कहे पूरा दिन लोग भीषण जाम से कराह उठे। प्रदर्शन की खासियत रही कि लोग फोटो खिंचवाने और गिरफ्तारी देने के लिए व्याकुल दिखे। शहर के छाया स्थित सपा कार्यालय के पास स्थित स्मारक से सपाइयों ने प्रदर्शन शुरू किया। यह सपा नेता प्रीतम सिंह वर्मा, आशीष आर्यन समेत तमाम नेताओं ने योगी सरकार के खिलाफ नारे लगाते हुए सरकार को जमकर कोसा। यहां पर अपर जिला अधिकारी संदीप कुमार गुप्ता समेत पूरा पुलिस प्रशासनिक अमला मौजूद रहा। प्रदर्शन कर रहे सपाइयों को पुलिस लाइन से एक वाहन बुलाकर गिरफ्तार करके उसी में भरकर ले जाया गया। वाहन में बैठे सपाई अंदर से भी जोरदार नारे लगा रहे थे। कार्यकर्ता सड़क पर ना इसके लिए पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच धक्का-मुक्की जैसे हालात हो गए। इसके बाद पूर्व कैबिनेट मंत्री अरविंद सिंह गोप शहर स्थित आवास के सामने से गुजरी सड़क पर धरने पर बैठ गए। यहां उनके साथ सुबेहा के चेयरमैन प्रतिनिधि अदनान चौधरी, हैदरगढ़ के पूर्व विधायक राममगन रावत, राम गोपाल रावत, हुमायूं नईम खां समेत दर्जनों कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया। अपर जिला अधिकारी संदीप कुमार गुप्ता से मंत्री ने कहा कि क्या आप कृषि बिल वापस करा सकते हैं। इस पर एडीएम ने उनकी बात ऊपर पहुंचाने का आश्वासन देते हुए मानमनौव्वल की। इस मौके पर पूर्व मंत्री अरविंद सिंह गोप ने कहा कि भाजपा की केंद्र व प्रदेश सरकार किसानों का हित सोचने की बजाय उनका दमन करने में लगी है। श्री गोप ने कहा कि जिस तरह किसान आज परेशान है ऐसा आजादी के बाद पहली बार हुआ है। उधर देवा रोड स्थित गांधी भवन में समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य राजेश यादव राजू ने अपने समर्थकों के साथ जोरदार प्रदर्शन किया। एमएलसी कार्यकर्ताओं के साथ सड़क पर ना जाएं इससे हलकान प्रशासन पहले से ही चाक चौबंद था और पुलिस लाइन से वाहन मगाकर गांधी भवन के सामने ही एमएलसी सहित सभी लोगों की गिरफ्तारी कर ली गई। पूरा दिन समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता नारेबाजी प्रदर्शन और ज्ञापन आदि देने में लगे रहे।

ALSO READ -  कृषि कानून नहीं होगा वापस, संशोधन पर हो सकती है चर्चा-कृषि मंत्री
सुश्री सीमा ने संभाली कानून व्यवस्था की कमान
समाजवादी पार्टी के प्रदर्शन को देखते हुए सीओ सिटी सीमा यादव ने कानून व्यवस्था की कमान संभाल रखी थी । समाजवादी नेताओ के मानमनौव्वल कर साथ सड़को पर संघर्ष करते हुए नजर आयी । इस बीच लगने वाले जाम पर गंभीर सीमा ने यातायत के लिए भी पूर्ण प्रयाश किये महिला अफसर का जिम्मेदारी पूर्ण कार्य वास्तव में काबिले तारीफ है ।

You May Also Like