Estimated read time 1 min read
Informative

SC का अहम फैसला, कहा कि जांच एजेंसी की चार्जशीट में साक्ष्य की प्रकृति और मानक ऐसे सुदृढ़ और स्पष्ट हों कि साक्ष्य साबित होते ही अपराध स्थापित हो जाये…..

चार्जशीट तब पूरी होती है जब उसमें संज्ञान लेने और ट्रायल के लिए पर्याप्त सामग्री और साक्ष्य मौजूद हों : सुप्रीम कोर्ट आपराधिक अपीलों की [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर बढ़ रही फेक जॉब एजेंसीज मशरूम की तरह फल-फूल रही, इलाहाबाद हाईकोर्ट ने जताई चिंता

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने हाल ही में देश भर में फर्जी जनशक्ति और भर्ती एजेंसीज के प्रसार पर ध्यान आकर्षित किया। उच्च न्यायालय ने कहा कि [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

पुलिस पैसे की वसूली के लिए सिविल कोर्ट के रूप में कार्य नहीं कर सकती: SC ने जोर देकर कहा कि परोक्ष उद्देश्यों के लिए आपराधिक प्रक्रिया शुरू करना कानून की नजर में गलत है और कानून की प्रक्रिया का दुरुपयोग

“अपराध का आरोप लगाने की सामग्री न तो बताई गई है और न ही कथनों से अनुमान लगाया जा सकता है। अपीलकर्ताओं से धन की [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

आपराधिक कार्यवाही केवल इसलिए रद्द नहीं की जा सकती क्योंकि आरोप सिविल विवाद का भी खुलासा करते हैं: इलाहाबाद HC

इलाहाबाद उच्च न्यायालय लखनऊ खंड पीठ ने माना कि केवल इसलिए कि आरोप एक नागरिक विवाद का भी खुलासा करते हैं, यह आपराधिक कार्यवाही को [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

सुप्रीम कोर्ट ने अपने दिव्यांग बच्चे के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराने वाले पिता पर ₹ 50,000 का जुर्माना लगाया

सुप्रीम कोर्ट ने विशेष रूप से विकलांग बच्चे द्वारा अपने पिता के खिलाफ कथित धोखाधड़ी और धोखाधड़ी के लिए उसके और उसकी मां के खिलाफ [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

सभी उच्च न्यायालयों को अग्रिम जमानत और जमानत अर्जियों पर यथाशीघ्र सुनवाई सुनिश्चित करने का निर्देश : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए देश के सभी उच्च न्यायालयों को अग्रिम जमानत और जमानत अर्जियों पर सुनवाई में देरी पर [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

बरी करने के फैसले को पूरी तरह से पढ़ा जाना चाहिए ताकि अनुशासनात्मक कार्यवाही की वैधता पर इसके प्रभाव की जांच की जा सके यदि यह समान साक्ष्य पर आधारित है: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आपराधिक कार्यवाही में बरी करने के फैसले को उसी साक्ष्य के आधार पर किसी कर्मचारी के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

क्या धारा 138 एनआई अधिनियम के आरोपी पर आईपीसी की धारा 420 के तहत धोखाधड़ी के लिए भी मुकदमा चलाया जा सकता है? जाने हाई कोर्ट ने क्या कहा

पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय ने कहा है कि दिवाला और दिवालियापन संहिता (आईबीसी) का कोई भी प्रावधान व्यक्तियों के खिलाफ शुरू किए गए आपराधिक [more…]

Estimated read time 1 min read
Article

सावधान कहीं आप ‘सेक्सटॉर्शन’ के शिकार तो नहीं, ये क्या है? और कैसे होता है? किन धाराओं के तहत और कैसे होगी दर्ज शिकायत, जाने विस्तार से

जिस प्रकार से देश और दुनिया में इन दिनों सोशल मीडिया प्लेटफार्म ने काफी लोकप्रियता हासिल की है. समाज के लिए इसके फायदे तो बेशुमार [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

सुप्रीम कोर्ट ने ₹318 करोड़ की वैश्विक डिपॉजिटरी रसीद धोखाधड़ी मामले में सीए संजय रघुनाथ अग्रवाल को दी जमानत

सुप्रीम कोर्ट ने चार्टर्ड एकाउंटेंट संजय रघुनाथ अग्रवाल को 318 करोड़ के ग्लोबल डिपॉजिटरी रिसीट्स में 200 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने के संदेह में [more…]