उत्तराखंड के नए सीएम ने कहा कि अब हरिद्वार महाकुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं को कोविड टेस्ट की अनिवार्यता नहीं

देहरादून : उत्‍तराखंड के नए सीएम तीरथ सिंह रावत ने शनिवार को एक इंटरव्‍य में कहा कि अब हरिद्वार महाकुंभ में आने वाले तीर्थयात्रियों को अपनी कोविड न‍िगेटिव र‍िपोर्ट लाने की जरूरत नहीं है .पत्रकारों से बातचीत में नए सीएम तीरथ सिंह रावत ने कहा, ‘कोविड निगेटिव र‍िपोर्ट लाने की बाध्‍यता हटाने का फैसला इसलिए ल‍िया गया क्‍योंक‍ि कुंभ के लिए हरिद्वार आने वाले लोगों के मन में इससे जुड़े भ्रम थे, इसलिए जरूरी था कि इन सभी संशयों को दूर कर दिया जाए’ .इससे पहले त्र‍िवेंद्र सिंह रावत की सरकार ने एसओपी जारी करके तीर्थयात्रियों के लिए आरटीपीसीआर टेस्‍ट की न‍िगेटिव र‍िपोर्ट लाना अन‍िवार्य कर द‍िया था. अब जबकि उत्तराखंड में मुख्यमंत्री बदल चुके है , तो नए मुख्यमंत्री ने इस आदेश कि अनिवार्यता को हटा दिया है .


सीएम तीरथ सिंह रावत का कहना है कि , ‘कुंभ 12 साल में आता है, हम नहीं चाहते कि लोग यह अवसर गंवा दें’ रावत के मुताबिक, कुंभ मेले में हर रोज आने वाले लाखों लोगों का आरटीपीसीआर टेस्‍ट करना संभव नहीं है .और कहा कि , ‘हम चाहते हैं संत, श्रद्धालु, व्‍यापारी और स्‍थानीय लोग खुश रहें. हम सुनिश्चित करेंगे कि कोविड-19 के नियमों का पालन हो साथ ही कुंभ में जरूरी स्‍वास्‍थ्‍य सेवाएं उपलब्‍ध रहें’. बता दें कि कोविड-19 के कारण इस बार महाकुम्भ को आधिकारिक तौर से मार्च और अप्रैल ,केवल दो महीनो के लिए ही रखा गया है.

ALSO READ -  #लखनऊ हाईकोर्ट का यूपी पंचायत चुनाव पर बड़ा फैसला,2015 को मूल वर्ष मानते हुए कराएं चुनाव

You May Also Like