राष्ट्रपति ने न्यायव्यवस्था से सीधा और त्वरित न्याय देने पर जोर दिया कहा loop-holes को बंद करें-

Estimated read time 1 min read

जबलपुर,मध्य प्रदेश : जबलपुर में आयोजित राज्य स्तरीय न्यायिक अकादमी निदेशकों के अखिल भारतीय सम्मेलन का उद्घाटन आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी के हाथो से हुआ।

इस अवसर पर राष्ट्रपति ने अदालती कार्यवाही में विलंब को लेकर चिंता व्यक्त की उन्होंने कहा की न्यायालयों को त्वरित न्याय पर जोर देना चाहिए। जिससे वादकारक को लाभ मिल सके, लेकिन अदालती कार्यवाही में कुछ लूप पोल होने की वजह से विलम्ब होता है।

राष्ट्रपति ने कहा अदालती कार्रवाई और प्रक्रिया में मौजूद इन loopholes का निराकरण करने में न्यायपालिका को, सजग रहते हुए proactive भूमिका निभानी आवश्यक हो जाती है। राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले innovations को अपनाकर और best practices को साझा करके इस लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है।

राष्ट्रपति ने कहा की ऐसा नहीं है कि न्याय में विलंब केवल न्यायालय की कार्य-प्रणाली या व्यवस्था की कमी से ही होता हो। वादी और प्रतिवादी, एक रणनीति के रूप में, बारंबार स्‍थगन का सहारा लेकर, कानूनों एवं प्रक्रियाओं आदि में मौजूद loop-holes के आधार पर मुकदमे को लंबा खींचते रहते हैं।

ALSO READ -  वोडाफोन आईडिया ने महंगे किये अपने फैमिली प्लान्स

You May Also Like