अन्नू कपूर की फिल्म ‘हमारे बारह’ को बड़ी राहत, बॉम्बे हाईकोर्ट ने दी रिलीज करने की इजाजत

फिल्म कलाकार अन्नू कपूर की फिल्म ‘हमारे बारह’ इन दिनों सुर्खियों में बनी हुई है। फिल्म को लेकर बहुत कंट्रोवर्सी हो रही थी। फिल्म को कर्नाटक सरकार ने बैन कर दिया है और उसके टेलर तक यूट्यूब से हटवा दिए है। फील की कंट्रोवर्सी के कारण से इसकी रिलीज को टाल दिया गया था। परन्तु बॉम्बे उच्च न्यायलय ने फिल्म को रिलीज करने की इजाजत दे दी है। फिल्म हमारे बारह की रिलीज़ पर रोक लगाने की मांग को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की गई थी। ये फिल्म पहले 7 जून को रिलीज होने वाली थी लेकिन इसे टाल दिया गया था। हाईकोर्ट ने फिल्म में कुछ बदलाव के साथ इसे रिलीज करने की इजाजत अब दे दी है। जिसके बाद से मेकर्स बहुत खुश हैं।

फिल्म में ये बदलाव किए गए-

महाराष्ट्र के पुणे के रहने वाले अजहर तांबोली ने यह याचिका दाखिल की थी। इस याचिका पर आज सुनवाई हुई, याचिकाकर्ता ने फिल्म के दो सीन कट करने की मांग थी। फिल्म निर्माता ने यह मांग स्वीकार कर ली, इसके बाद कोर्ट ने फिल्म रिलीज करने की इजाजत दे दी। कोर्ट ने सेंसर बोर्ड को नया प्रमाणपत्र देने के भी आदेश दिए है।

अन्नू कपूर ने किया था रिएक्ट-

फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने पर अन्नू कपूर ने रिएक्ट किया था। उन्होंने कहा- ये एक गंभीर मामला है। फिल्म 7 जून को रिलीज होनी थी। हमारे सारे भुगतान हो चुके थे। स्क्रीनिंग पूरी हो चुकी थी। सब फाइनल था। अब हमे सारी सेविंग्स लगाकर हर जगह रिलीजिंग रोकनी पड़ेगी। बिना फिल्म देखे इस पर 7 जून को रिलीज होने से रोक दिया गया।

ALSO READ -  इलाहाबाद हाई कोर्ट ने लखनऊ स्थित 16 स्कूलों का निरीक्षण करने के लिए समिति का गठन का आदेश - जाने विस्तार से

कैसी है ‘हमारे बारह’ की कहानी-

इस फिल्म में बेटी और पिता के बीच कोर्ट में लड़ाई दिखाई गई है। फिल्म में अन्नू कपूर की पहली पत्नी बच्चे को जन्म देते हुए मर जाती है और दूसरी बीवी छठी बार प्रेग्नेंट होती है। डॉक्टर अबॉर्शन के लिए कहते हैं क्योंकि उसकी जान जा सकती है।अपनी सौतेली मां को बचाने के लिए बड़ी बेटी पिता के खिलाफ कोर्ट में जाती है। फिल्म को कुछ सीन्स ऐसे हैं जिन्हें देखकर लोग इमोशनल हो जाएंगे।

‘हमारे बारह’ एक मार्मिक कथा के इर्द-गिर्द घूमती है, जो मंजूर अली खान संजरी पर केंद्रित है। एक ऐसा किरदार जो प्रसव के दौरान अपनी पहली पत्नी को खोने के बावजूद, अपनी दूसरी पत्नी के साथ अपने परिवार का विस्तार करता है, जो अब अपने छठे बच्चे की उम्मीद कर रहा है।

जब चिकित्सा विशेषज्ञ उसकी गर्भावस्था से जुड़े जोखिमों के बारे में चेतावनी देते हैं, तो खान गर्भपात के विचार का दृढ़ता से विरोध करता है। कहानी तब एक दिलचस्प मोड़ लेती है जब खान की बेटी अल्फिया अपनी सौतेली मां की जान बचाने के लिए कानूनी हस्तक्षेप की मांग करते हुए मामले को अदालत में ले जाती है।

फिल्म पारिवारिक गतिशीलता की जटिलताओं में उतरती है और समाज में व्याप्त पितृसत्तात्मक मानदंडों का सामना करती है। बीरेंद्र भगत, रवि एस गुप्ता, संजय नागपाल और शिव बालक सिंह द्वारा संयुक्त रूप से निर्मित और कमल चंद्रा द्वारा निर्देशित, ‘हमारे बारह’ की पटकथा राजन अग्रवाल ने लिखी है।

वही कर्नाटक सरकार ने अन्नू कपूर की फिल्म ‘हमारे बारह’ की रिलीज पर बैन लगा दिया है। दरअसल इस फिल्म से सांप्रदायिक तनाव पैदा होने का खतरा, कारण बताते हुए सरकार ने इसे बैन किया है। कुछ दिन पहले इसका ट्रेलर यूट्यूब से हटवा लिया गया था। यह निर्णय कर्नाटक सिनेमा विनियमन अधिनियम 1964, धारा 15(1) और 15(5) के अनुसार है।

You May Also Like