पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से जज पर हमले व् मारपीट के नहीं मिले साक्ष्य, दोनों ही कारों से कोई भी बाहर नहीं उतरा

लखनऊ रोड रेज के एक चौंकाने वाले मामले में एक अतिरिक्त जिला न्यायाधीश / विशेष न्यायाधीश पोक्सो एक्ट आशुतोष सिंह को उनकी कार से बाहर खींच लिया गया और लखनऊ के व्यस्त जॉपलिंग रोड पर सबके सामने उनके साथ मारपीट की गई। घटना मंगलवार शाम की है जब आरोपियों की कार एडीजे आशुतोष कुमार सिंह की गाड़ी को रौंदते हुए आगे निकल गई। पुलिस ने बुधवार शाम जज की शिकायत पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया।

जज पर हमला करने के बाद डीसीपी (सेंट्रल) अपर्णा रजत कौशिक ने कहा कि पुलिस आरोपियों का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

अपनी शिकायत में, एडीजे विशेष न्यायाधीश पोक्सो एक्ट आशुतोष सिंह ने कहा कि वह अपनी कार चला रहे थे और उनका अदालत का अर्दली भी वाहन में था। उन्होंने कहा, ‘‘मैं शाम करीब 7.40 बजे जॉपलिंग रोड से गुजर रहा था। जब एक कार ने मेरे वाहन के सामने बाएं दरवाजे पर टक्कर मार दी। कार कुछ मीटर आगे धड़धड़ाते हुए रुकी और लगभग 20 साल का एक आदमी उसमें से बाहर निकला। वह मेरे पास आया, मेरा कॉलर पकड़ा, गालियां दीं और मुझे मेरी कार से बाहर खींच लिया। उसने मुझे धक्का देकर गिरा दिया और मेरा गला दबाने की कोशिश की। मेरे अर्दली गौरव ने हस्तक्षेप किया और मुझे उससे बचाया। फिर वह अपनी कार में वापस आया और तेजी से चला गया।‘

जज पर हमले के मामले में लखनऊ पुलिस ने गुरुवार को आरोपित कार चालक को पकड़ा और उससे कई घंटे पूछताछ की पुलिस घटना का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है परन्तु पुलिस को सीसीटीवी फुटेज से जज पर हमले के कोई सबूत नहीं मिले।

ALSO READ -  BCI ने हड़ताल के दौरान जजों के पुतले जलाने और पुलिस के साथ धक्का मुक्की करने वाले 29 वकीलों को किया निलंबित

आरोपी कार चालक निरालानगर का रहने वाला हैं और विधि का छात्र है हजरतगंज पुलिस ने आरोपी कार चालक चाँद से काफी पूछताछ की और मौके पर लगे सीसीटीवी फुटेज खगाले परन्तु उसे हमले व् मारपीट के कोई साक्ष्य नहीं मिले।

एसीपी हजरतगंज अरविन्द वर्मा के मुताबिक आरोपी चाँद ने बताया की वो कार से जा रहा था तभी सामने से दूसरी कार आ गई उसने ब्रेक लगा दी और शीसा खोलकर दूसरे तरफ का मिरर खोल दिया दोनों ही कारों से कोई भी बाहर नहीं उतरा था और वो ये भी नहीं जानता था की सामने की कार में कौन है ? इसके बाद दोनों लोग वहाँ से चले गए।

एसीपी हजरतगंज के मुताबिक अब तक तफ्तीश में एड्ज महोदय पर हमले के कोई भी साक्ष्य नहीं मिले हैं एडीजे विशेष न्यायाधीश पोक्सो एक्ट आशुतोष सिंह से आरोपी कार चालक ने अभद्रता की इसकी जांच चल रही है।

हजरतगंज पुलिस आरोपी की कार को कब्जे में लेकर आरोपी कार चालक को पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया।

You May Also Like