NIA के कार्रवाई में लश्कर-ए-तैयबा का एक और संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार, Karnataka

Estimated read time 1 min read

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA) की कोलकाता (Kolkata) ब्रांच ने पाकिस्तान प्रायोजित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba operative) के एक और संदिग्ध आतंकी को गिरफ्तार किया है. हाल में ही NIA ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद से सात आतंकियों को गिरफ्तार किया था. उसके बाद से एनआईए लगातार आतंकियों के नेटवर्क को तोड़ने की कोशिश कर रही है.

आरोपी को मंगलवार को कर्नाटक के उत्तर कन्नड़ इलाके से दबोचा गया. उसका नाम सैयद एम इदरीस (28) उर्फ मुन्ना बताया गया है. कर्नाटक की अदालत में पेश पर NIA को आरोपी को ट्रांजिट रिमांड (Transit Remand) के जरिए कोलकाता लाने की अनुमति मिल गयी है.

स्लीपर सेल का सदस्य है इदरीस

सूत्रों का कहना है कि वह आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के स्लीपर सेल (Sleeper cell) के लिए युवाओं की नियुक्ति के कार्य की कोशिश में जुटा हुआ था. इसके लिए वह सोशल मीडिया (Social Media) का भी इस्तेमाल कर रहा था. NIA के अधिकारियों का कहना है कि आरोपी के लैपटॉप और मोबाइल फोन की कॉल लिस्ट की जांच भी की जा रही है.

मार्च में बादुरिया से तानिया परवीन की हुई थी गिरफ्तारी

गिरफ्तार लश्कर की संदिग्ध आतंकी तानिया परवीन (Taniya Parveen) से पूछताछ में मिले तथ्यों से ही इदरीस का पता चला था. आतंकी संगठन के लिए कार्य करने, युवाओं को संगठन से जोड़ने की कोशिश, देशद्रोह, धार्मिक उन्माद फैलाने व आपराधिक षडयंत्र के आरोप में इस वर्ष मार्च महीने में कोलकाता पुलिस के स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) भारत-बांग्लादेश सीमवर्ती इलाका बादुरिया (Baduria) से परवीन को गिरफ्तार किया था.

ALSO READ -  महिला वनडे विश्व कप 2022 का कार्यक्रम जारी, जानें भारतीय टीम का कैसा है शेड्यूल

हनी ट्रैप का काम करती थी तानिया

कथित तौर पर पकिस्तान की खुफिया एजेंसी आइएसआइ भारत की संवेदनशील सूचनाएं एकत्र करने के लिए संदिग्ध आतंकी तानिया परवीन का इस्तेमाल हनी ट्रैप के लिए कर रही थी. बाद में मामले की जांच एनआइए करने लगी. इस मामले में परवीन के खिलाफ 10 सितंबर को एनआइए अदालत में आरोप पत्र दायर कर चुकी है.

You May Also Like