Estimated read time 1 min read
Informative

नाबालिग बच्चों की हिरासत के मामलों में, बंदी प्रत्यक्षीकरण का उपयोग हिरासत की वैधता को उचित ठहराने या जांचने और रिट की अनिवार्यता के लिए नहीं हो सकता: HC

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपने नाबालिग बेटे की हिरासत की मांग करने वाले एक पिता द्वारा दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका को खारिज करते हुए कहा [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

आपराधिक मामले का खुलासा न करना हमेशा रोजगार के लिए घातक नहीं: सुप्रीम कोर्ट ने एक उम्मीदवार को पुलिस कांस्टेबल के रूप में नियुक्त करने का निर्देश दिया

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बरी होने वाले आपराधिक मामले का खुलासा न करना हमेशा उम्मीदवार के रोजगार के लिए घातक नहीं होता है। न्यायालय [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

NSA : राज्य हिरासत के उन आदेशों की वैधता समाप्त होने के बाद बढ़ा या समीक्षा नहीं कर सकता जो हिरासत की अवधि निर्धारित करते हैं : इलाहाबाद हाई कोर्ट

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने इस बात पर जोर दिया कि राज्य राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, 1980 की धारा 12(1) के तहत पारित हिरासत आदेश की समीक्षा [more…]

Estimated read time 0 min read
Informative

हाई कोर्ट ने तल्ख टिप्पणी करते हुए सरकार की ओर से जवाबी हलफनामे दाखिल करने में लापरवाही बरतने को गंभीरता से लिया

अपर महाधिवक्ता ने बहस की। हड़बड़ी में आधा अधूरा जवाबी हलफनामा तैयार कर दाखिल कर दिया गया। कोर्ट ने कहा कि अक्सर ऐसा देखा जा [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

यूपी गैंगस्टर एक्ट की धारा 2(B)(i) के तहत अभियोजन जारी नहीं रखा जा सकता, अगर ‘घातक अपराध’ का आरोप लगाने वाली FIR रद्द हो जाती है: SC

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि उत्तर प्रदेश गैंगस्टर्स और असामाजिक गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम, 1986 के तहत अभियोजन जारी नहीं रखा जा सकता है, अगर द्वेषपूर्ण [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

जब किरायेदार की किरायेदारी की वैधता के दौरान सरफेसी कार्यवाही शुरू की जाती है तो किरायेदार के लिए ये उपचार उपलब्ध होते हैं: HC जाने विस्तार से

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने किरायेदार की वैधता के दौरान सरफेसी अधिनियम की धारा 14 के तहत कार्यवाही शुरू होने की स्थिति में किरायेदार के लिए [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

(उत्तर प्रदेश धर्मांतरण निषेध धर्म अधिनियम 2021) उच्च न्यायालय: धारा 8 और 9 के अनुपालन के बिना किया गया अंतरधार्मिक विवाह वैध नहीं है, निर्णय पढ़ें….

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने सुरक्षा की मांग करने वाले एक अंतरधार्मिक जोड़े की याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि यूपी के गैरकानूनी धर्मांतरण निषेध [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

केवल अपमानजनक भाषा का प्रयोग या असभ्य या असभ्य होना आईपीसी की धारा 504 के तहत अपराध नहीं माना जायेगा : इलाहाबाद उच्च न्यायालय

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने माना कि केवल अभद्र भाषा का प्रयोग या प्रतिद्वंद्वी के प्रति असभ्य व्यवहार करने पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

विवाह के सपने दिखा कर किया यौन शोषण, आरोपी की याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा- पुलिस पीड़ितों की रक्षा के लिए लेकिन मौजूदा मामले में पद का किया दुरुपयोग

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने हाल ही में शादी का झूठा वादा करके एक महिला से बलात्कार करने के आरोप में एक पुलिस अधिकारी के खिलाफ [more…]

Estimated read time 1 min read
Informative

चेक बाउंस मामले में हाईकोर्ट का फैसला- ईमेल या व्हाट्सएप के माध्यम से भेजा गया डिमांड नोटिस वैध

इलाहाबाद उच्च न्यायलय एक मामले की सुनवाई करते हुए अपने निर्णय में कहा है कि चेक बाउंस के मामले में ईमेल या व्हाट्सएप के माध्यम [more…]